अदृश्य दृश्य

मेरे प्यारे डिजिटल जगत के लिए, उन दो अंक के लिए जिसके बलबूते पर यह सारा डिजिटल जगत चलता है –

मेरे प्यारे डिजिटल जगत के लिए –

नम्बर कई मिले
मिलनाम्बर में
उनमें थे
न कोई गिले
पर बचे
शून्य एक
ही रहे
अदृश्य दृश्य
से सब बने
नम्बर कई
फिर मिल गए

~ वाणी मुरारका

मिलनाम्बर: मिलन का अम्बर – अर्थात इन्टरनेट

binary-139838-400w
चित्र सौजन्य: pixabay.com

2 thoughts on “अदृश्य दृश्य”

  1. Excellent, Vani. You have coined a beautiful word – a world of numbers! The globe made up of numbers is also a very striking visualisation! Great job.

Leave a Reply to Renu Ageawal Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *